Useful Agriculture aricles only on our App

सरसों में लगनी वाली किट माहू का उपचार

DeHaat

14-Apr-2020
15 Likes. Dolly Bharti , Amit Pachauri , Team DeHaat , Unnati Project , Anusha , Anshu Shekhar , Abhinay Kumar , Anubha Savarn , vishwajeet. kumar , krinshu , Ajeet Chaudhary , rohit kumar maurya , mmp , Raj Kumari devi , BabuLalm

इस कीट के शिशु एवं प्रौढ़ पौधों के कोमल तनोपत्तियों ,फूलोएवं नई फलियों से रस चूसकर उसे कमजोर क्षतिग्रस्त करते  ही हैसाथ ही साथ रस चूसते समय पत्तियों पर मधुस्राव भी करते है इस मधुस्राव पर काले फफूंद का प्रकोप हो जाता है तथा प्रकाश शंश्लेषण की किर्या बाधित हो जाती है इस कीट का प्रकोप जनवरी से लेकर मार्च तक बना रहता है |   इसकी रोकथाम के लिए समय से बिजाई करनी चाहिए।
जब खेत में माहू का नुकसान दिखे तो कीटनाशक इनमें से कोई एक कीटनाशक जैसे 12-15  मिली विक्टर या टाटामिडा और 10 ग्रा. शार्प या माणिक को 15  लीटर
पानी में घोलकर 8-10 दिनों के अन्तराल पर कम-से-कम तीन बार छिडकाव करायें. 

किसान भाइयों!  सरसों के खेतों में प्रति एकड़ 5-6 येलो स्टिकी ट्रैप लगाकर भी फसल को लाही के प्रकोप से बचाया जा सकता है.

Tags :

Mustard | सरसों

Solutions About Us Farmbook Blog
Know Your Soil Agri Input Advisory Health & Growth Agri Output Farm Intelligence Finance We Are Hiring